फास्टैग क्या है? यह कैसे काम करता है | FASTag kya hai? kiase kam karta hai

फास्टैग क्या है? यह कैसे काम करता हैFASTag kya hai? Aur kiase kam karta hai

आज के इस पोस्ट में जानेंगे फास्टैग क्या और कैसे काम करता है? इसमें कौन सी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है? FASTag कहाँ से खरीद सकते हैं? आदि की जानकारी यहाँ पर आप मिलेगी। भारत में 1 जनवरी 2021 से सभी 4 पहिया वाहनों में FASTag को लगाना अनिवार्य हो गया है। यह पुराने वाहनों के साथ M और N कैटेगरी के मोटर वाहनों पर भी लागू होगा जिनकी बिक्री 1 दिसंबर 2017 से पहले हुई है। वे गाड़ी जिनमें FASTag नहीं लगा होगा उन्हें दुगने शुल्क देना होगा जब वो किसी FASTag-only lane से यातायात करेंगे।

 

फास्टैग क्या है? (What is FASTag)?

Paytm se FASTag kaise buy kare? | पेटीएम से फास्टैग कैसे खरीदते है
Paytm se FASTag kaise buy kare? – पेटीएम से फास्टैग कैसे खरीदते है

फास्टैग एक उपकरण होता है जो वाहन के सामने वाले कांच पर लगाया जाता है। और इसमें रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन ( RFID) लगा होता है।  जैसे ही आप की गाड़ी टोल प्लाजा के पास से गुजरती हैतो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंड स्क्रीन में लगे फास्टैग के संपर्क में आता है,  और आपके  फास्टटैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क काट देता है और आप बिना  वहां रुके ही अपना टोल प्लाजा टेक्स का भुगतान कर देते हैं। वाहन में लगा यह FASTag  आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही अपना कार्य शुरू कर देगा। वहीं जब आपके फास्टैग अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगीतो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा।  फास्टैग की वैधता 5 वर्ष की होगी यानी 5 वर्ष के बाद आपको नया फास्टैग अपनी गाड़ी पर लगवाना होगा।

 

FASTag क्यों जारी किया गया है, फास्टैग के क्या फायदे हैं? Benefits of FASTag

 

जैसा की सभी टोल प्लाजा पर इलेक्ट्रानिक सिस्टम से टोल टैक्स का वसूली करण होता रहा है जो की काफी धीमी प्रक्रिया है। और इस विधि में काफी समय लगता है लम्बीलम्बी लाइनें लग जाती है ट्रैफिक जाम जैसी परिस्थिति पैदा हो जाती है और इससे पेट्रोल की खपत भी काफी ज्यादा होती है।

इसलिए इस समस्या के निवारण के लिए FASTag डिवाइस का उपयोग किया जा रहा है। इससे अब आपको टोल प्लाजा पर बिना रोके ही टोल कर ले लिया जाएगा। जिससे समय और पेट्रोल की बचत तो होगी ही इसके साथ ही टोल टैक्स की चोरी को भी रोका जा सकता है।

 

FASTag kaise kam karta hai? फास्टैग कैसे काम करता है।

यह तकनीक Radio Frequency Identification Technology पर काम करती है FASTag एक RFID टेक्नोलॉजी पर बेस्ड एक स्टिकर है जो गाड़ी के आगे सीसे में लगया जाता है। और टोल प्लाजा पर लगे RFID रीडर आपके फास्टैग को स्कैन कर लेता हैं और जितना भी टैक्स होता है उतनी राशि फास्टैग की मौजूदगी वाला व्हीकल से फास्टैग से जुड़े प्रीपेड या बचत खाते से खुद ही कट जाता है। और आपके रजिस्टर्ड मोबाइल पर कटी हुई राशि का मैसेज भी प्राप्त हो जाएगा। 

 

SMS की सुविधा भी मिलेगी फास्टैग यूजर्स को।

फास्टैग के माध्यम से जब भी आपका Tole Tax बसूला जाएगा तो इसकी जानकारी आपके मोबाइल नंबर पर स्वतः ही आ जाएगा। अतः आपसे ज्यादा पैसा नही लिया जा सकता जितना पैसा टोल टैक्स का निश्चित किया गया है उतना ही काटा जाएगा।

 

कहाँ से मिलेगा FASTag – Where to buy a FASTag?

फास्टैग को किसी भी Authorized Bank जैसे Axis Bank, ICICI Bank, IDFC Bank, SBI Bank आदि से ख़रीद सकते हैं। इसे आप पेट्रोल पंप, RTO, टोल प्लाजा और Paytm से भी ख़रीद सकते हैं। इसकी वैधता 5 वर्ष तक होती है।

 

      आशा करते हैं कि आपको, FASTag क्या है और FASTag कैसे काम करता है? समझ में आ गया होगा। अगर इससे संबंधित कोई भी सवाल है तो नीचे कमेंट बॉक्स आपका इंतजार कर रहा हैं। और यदि आपको लगता है कि इसकी जानकारी किसी दोस्त या रिलेटिव को नही है तो उन्हें Social Media पर ज़रूर शेयर करिए।

 

यह भी जानें  👇

   👉 Flight mode में भी इंटरनेट चलाने का तरीका

   👉 Paytm se FASTag kaise buy kare?

   👉 मोबाइल से कंप्यूटर में इंटरनेट कैसे चलाए?

   👉 5G Network kya hai? kaise speed badhegi

Leave a Comment